.

SSC CGL को First attemp में कैसे क्लियर करे। जानिए SSC CGL 2020 Topper TUSHANGI GUPTA से | tushangi gupta success story

SSC CGL SUCCESS STORY IN HINDI 

यदि आप भी एसएससी के स्टूडेंट है और आप एक सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए, क्यूंकि आज के इस आर्टिकल में हमलोग एक ऐसी शख्स की सफलता की कहानी को जानेगे जिन्होंने काफी पारिवारिक समस्याओ के रहते हुए भी फर्स्ट अटेम्प में क्रैक  कर लिया। आज हमलोग जानने वाले है तुषांगी  गुप्ता की SSC CGL की सफलता की कहानी है। तुषंगी गुप्ता ने ssc cgl 2020 में फर्स्ट अटेम्प क्लियर किया है। तो चलिए जानते हैं इनकी सक्सेस स्टोरी को। 
ssc सफलता की कहानी

    तुषंगी गुप्ता की एसएससी सीजीएल की जर्नी 

    तुषंगी गुप्ता ने अपनी 12 वीं का एग्जाम देने के बाद ग्रेजुएशन में एडमिशन ले ली और सोचा की अगले तीन साल में वो अपनी कर्रिएर बना लेगी। इनको बहुत सारी चीजों में इंट्रेस्ट जैसी फोटोग्राफी थी, फोटोग्राफर और भी। लेकिन इन सब के लिए पैसो की जरूरत थी। लेकिन येका फाइनेंसियल बैकग्रॉउंड कमजोर होने के कारण वे ये सब नहीं कर पायी।  

    जैसा कि आप जानते हैं कि दिल्ली में दिल्ली में रहना कितना महंगा होता है। इसीलिए गुप्ता अपने माता-पिता के पैसे और बर्बाद नहीं करना चाहती थी। जल्द से जल्द कोई अच्छी सी जॉब करना चाहती थी। एक दिन तुषांगी गुप्ता के अपने दोस्त किसी डेमो क्लास के लिए जा रहे थे। तो उनके साथ Tushangi Gupta भी डेमो क्लास के लिए गई वहां जाने के बाद तुषांगी गुप्ता को क्लास की पढ़ाई बहुत अच्छी लगी और उन्हें लगा कि वह भी यह कर सकती है।  क्योंकि वहां के टीचर ने जो सवाल बतलाए थे वह बिल्कुल समझ में आ गए थे। उन्होंने ऐसा समझाया था कि तुषांगी गुप्ता के दिमाग से मैथ और इंग्लिश का डर ही निकल गया और वह मोटिवेट हो गई।


    तूसांगी गुप्ता का मानना है कि सच्ची लगन कड़ी मेहनत और सही मार्गदर्शन की मदद से कोई भी इस परीक्षा को क्रैक कर सकता है। इसके बाद उन्होंने अपनी आगे की तैयारी शुरू कर दी, फिर भी ये सब करना उनके लिए आसान नहीं था, सुबह 8 से 5 कॉलेज और शाम 5 से 8 कोचिंग, पूरे 12 घंटे उन्हें घर से बाहर रहना पड़ता था जिससे कि शाम को घर आने के बाद थक कर सो जाती थी। फिर भी उन्होंने एक भी दिन अपनी क्लास नही छोड़ी और लगातार नोट्स बनाती रही, मई 2018 में उनका कोर्स पूरा हो गया और वापस अपने होम Town आ गई।

    घर आना उनके लाइफ में एक turning point साबित हुआ, घर आने के बाद चीजे वैसी नहीं थी जैसा कि उन्होंने सोचा था। घर आने के बाद उनके सामने कई सारी फाइनेंशियल के साथ इमोशनल प्रॉब्लम आई। जिसके कारण वे डिप्रेशन में चली गई, इसी बीच उनके एग्जाम स्थगित हो गया था जिससे की उनके दोस्तों से उनका संपर्क टूट गया और वे बिल्कुल अकेली हो गई। जिससे उनका डिप्रेशन और बढ़ता गया और हालात ऐसे हो गए की वे दिन भर सोती रहती थी और किसी से बात भी नहीं करती थी। इसी बीच उनकी एक दोस्त ने कॉल किया जिससे उन्होंने पूछा कि कोई ऐसी book है क्या जिसको पढ़कर आदमी डिप्रेशन से बाहर निकल सकता है, तो उनकी फ्रेंड ने एक बुक का नाम बताया जिसका नाम था how to stop worry and start living को लेकर पढ़ना शुरू किया और कुछ दिन बाद वे सामान्य स्थिति में आ गई और उन्हें अहसास हुआ कि अब उन्हें ही कुछ करना होगा। और उन्होंने एक बार फिर से अपनी तैयारी शुरू कर दी।


    फाइनली जून 2019 में उनका पहला एग्जाम हुआ जिनमें उनका स्कोर 200 मार्क्स में 192.5 प्राप्त किया। इसके तीन महीने बाद उनका टियर टू ओर तीन महीने बाद टियर थ्री का एग्जाम हुआ जिनमें उनका फाइनल स्कोर 593 रहा 700 में। फर्स्ट एटेंप में इतना अच्छा रैंक लाना उनके और उनके परिवारवालों के लिए बहुत गर्व की बात थी। दोस्तों अभी तक हमलोगो ने Tushangi गुप्ता की SSC CGL की जर्नी को जाना है। अब चलिए हम जानते है कि SSC CGL की तैयारी कैसे करे।

    SSC CGL की तैयारी कैसे करें

    तुषांगी गुप्ता का कहना है कि हमे SSC CGL ko क्रैक करने के लिए सही मार्गदर्शन और सही स्ट्रेटजी की जरूरत है। सबसे पहले हमे अपना लक्ष्य बनाना होगा, फिर उसे पाने के लिए कड़ी मेहनत और continuty लानी होगी। तब जाकर हम सक्सेस होंगे। इनका कहना है कि SSC CGL की तैयारी करते समय हमे daily अपना टारगेट सेट करके तैयारी करनी होगी, हमे ज्यादा बुक को नहीं रखना चाहिए बल्कि कुछ महत्वपूर्ण बुक को ही बार बार रिवीजन करना चाहिए। इसके अलावा हमे questions bank के प्रश्नों को देखना और उससे संबंधित और प्रश्नों को हल करना चाहिए तभी हमे एग्जाम का पैटर्न समझ आएगा और तब जाकर हम कुछ अच्छा कर पाएंगे। यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे शेयर जरूर करे।

    Post a Comment

    और नया पुराने