.

Chinu kala success story in hindi | इस महिला ने सिर्फ 300 रुपये से कैसे बनाया 15 करोड़ का बिज़नेस जानिए पूरी कहानी वो भी हिंदी में

Chinu kala biography in hindi

आज हमलोग एक ऐसे इंसान की success story और biography जानने वाले है जिन्होंने मात्र 15 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया। रात स्टेशन पर गुजारी ,सेल्सगर्ल का काम किया। और आज एक सफल बिजनेसमैन ,एन्टेर्प्रेनुर और एक मॉडल है ,जिनकी कंपनी का रेवेन्यू 15 करोड़ से भी अधिक का है ,जो आज डेर सारे लोगो को रोजगार दिया है। तो चलिए जानते चीनू कला की स्टोरी को।
Chinu kala success story in hindi


    Who is Chinu kala (चीनू कला कौन है ?)

    चलिए सबसे पहले जानते है की चीनू कला कौन है ? चीनू कला एक मॉडल ,इंटरप्रेन्योर, एक सफल बिजनेसमैन और रुबंस कंपनी की फाउंडर है जिन्होंने अपने दम पर सिर्फ 300 रुपये से आज 15 करोड़ (इनकी कंपनी के 2020 का रेवेन्यू ) का बिज़नेस खड़ी कर ली है। आज वे कई सारे लोगों को रोजगार प्रदान कर रही है। जो इनके सफलता का प्रमाण दे रही है की वो आज कई लोगो को तनख्वाह देने में समर्थ है। 
     
    {यदि आप भी चाहते है की आपकी biography और success story भी google में मौजूद रहे तो आज ही हमसे संपर्क करे। आप हमसे instagram या contact us फॉर्म के जरिये contact कर सकते है ,हम आपको बहुत जल्द रिस्पांस देंगे। }



    Chinu kala education Qualification 

    आप सब लोगों के मन में एक सवाल उठ रहा होगा की चीनू कला जब इतना कुछ कर रही है तो जरूर इन्होने कोई अच्छी सी मास्टर डिग्री ली होगी। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा की  चीनू कला ने सिर्फ पंद्रह साल की उम्र में अपने पिता जी का घर छोड़ दिया था ,जिसके कारन इनका एजुकेशन  पूरा नहीं हो पाया था। यहाँ तक की इनका बेसिक एजुकेशन भी कम्पलीट नहीं हुआ था जब इन्होने अपने पिताजी का घर छोड़ा था। मतलब की चीनू कला के पास कोई एजुकेशन क्वालिफिकेशन नहीं है। अतः सफल होने के लिए जरुरी नहीं की आपके पास कोई अच्छी सी डिग्री हो  आपके मेहनत और लगन ही आपको सफल बनाते है। 

    Chinu kala success story 

     चीनू कला का जन्म 10 ओक्टुबर 1981 में राजस्थान इंडिया में हुआ था ,इनकी माता हमेशा विदेशो में ही काम करती थी इसीलिए वे घर पर कम ही आती थी। इनके भाई बहन का पालन पोषण इनके पिताजी ही करते थे। एक दिन अचानक से इनके पिताजी और इनके बिच झगड़ा हो गया और इनके पिताजी ने इन्हे घर छोड़ने को बोल दिया ,उस समय चीनू कला बहुत गुस्से में थी और इन्होने बिना कुछ सोचे अपने दो जोड़ी कपडे उठाये और उस समय इनके पास सिर्फ तीन सौ रुपये थे ,ली और अपने घर से लिकल गयी। 


    घर से निकलने के बाद ये अपने बिल्डिंग के निचे कुछ समय खड़ी रही और सोचती रही की  मै कहा जाऊ ,क्या करू। बस उन्हें ये था की अब घर वापस नहीं जाना है। और अपनी जिद्द के कारण वे घर वापस नहीं गयी। अक्सर जब हम बच्चे होते है तो हमे लगता है की जीना आसान है। लेकिन हम भूल जाते है की हमे जिन्दा रखने और हमारी आवश्यकताओ को पूरा करने के लिए हमारे पेरेंट्स काम भी करते है। 


    अपनी जिद के कारन चीनू घर नहीं गयी। चीनू ने देखा था की अक्सर लोग स्टेशन पर रात गुजारते है ,और उसी को देखकर वो बॉम्बे स्टेशन पर चली गयी ,वहां जाने के बाद वो भी सभी की तरह अपना सामान रखकर सोने की कोशिश करने लगी लेकिन उन्हें नींद नहीं आ रही थी। सुबह होते होते वो खूब रो रही थी तभी वहां पर एक आंटी आयी उन्होंने चीनू से रोने की वजह पूछी ,चीनू ने सबकुछ बताया। तब वह आंटी ने चीनू कला को एक काम बतायी। वह काम था सेल्सगर्ल का जिसमे उन्हें घर घर जाकर चाकू सेट का सामान बेचना था। 

    उस दिन वो कुछ नहीं कर पायी और दिन वही स्टेशन पर गुजार  दिया। अगले दिन वो उस ऑफिस में गयी जहाँ उन्हें कुछ किचेन के सामान घर घर जाकर बेचने के लिए दिए गए। उस समय चीनू कला को लगा की ये काम बहुत आसान है और वो इसे कर लेगी ,लेकिन जब वह सेल्स के लिए निकली तो उन्होंने अपना फहला दरवाजा खटखटाया दरवाजा खुला लेकिन कुछ बोलने से पहले ही बंद हो गया। तब उन्हें बहुत दुःख हुआ और उन्होंने थान लिया की अब अगला दरवाजा बंद नहीं होने देना है ,और हुआ भी कुछ ऐसा ही उन्होंने अपना फहला सामान बेचा जो उनके लिए किसी सफलता से कम नहीं था। 

    इसी तरह सामान बेचकर वो अपने रहने और खाने का इंतजाम कर लिया। कुछ दिन बाद उनकी काम को देखकर एक जॉब मिल गयी जहाँ पर वो काम करने लगी। उसी दौरान उन्होंने बहुत कुछ सीखा,जो काम आपको रहने के लिए घर और दो वक्त का खाना देता हो वो काम कभी छोटा नहीं होता है इसके बाद उन्होंने सेविंग करना शुरू किया और जॉब के दौरान सेल्स से संबंधित बहुत कुछ सीखा जो अब उनकी कंपनी रुबंस को चलाने में मदद करती है। 

    कुछ समय  बाद वे अपने आप को आर्थिक रूप से स्थिर करने  के बाद उन्होंने साल 2004 में अमित कला से शादी कर ली। शादी के कुछ समय बाद उन्हें एक ग्लैडरेस मिसेज इंडिया में  भाग लिया और फ़ाइनल प्रतिभागियों में से एक रही ,इसके बाद उन्हें बहुत सारे अवसर मिलने लगे। मिसज़ इंडिया में पार्टिसिपेट करने से उन्होंने फ़ैशन के बारे में जाना सीखा और लोगों की जरूरतों का ध्यान रखा ,उनकी आवश्यकताओ को पहचानी और भी बहुत कुछ सीखा। 

    इसके बाद उन्होंने एक छोटे से रूम में मात्र तीन लाख रुपये के इन्वेस्टमेंट से एक ज्वेलरी शॉप खोला ,जो आगे चलकर ग्रो करने लगा और वह तेजी से प्रचलित होने लगा जिसे आज हमलोग रुबंस के नाम से जानते है। रुबंस को चलाने में चीनू कला की वे सभी ट्रेनिंग काम आयी जिसको उन्होंने अपने संघर्ष काल में सीखा था। 


    रुबंस अच्छा परफॉर्म करने लगा था। और आज रुबंस सिर्फ इंडिया ही बल्कि पुरे वर्ल्ड में अपनी परचम लहरा रहा। आगे चलकर रुबंस ने अपना बिज़नेस ऑनलाइन लाया और उसने अपनी वेबसाइट rubans.in लांच कर दी इसकी मदद से आप पूरी वर्ल्ड में रुबंस ज्वेलरी को आर्डर कर सकते है। आपको जानकर आश्चर्य होगा की सिर्फ तीन लाख के इन्वेस्टमेंट से शुरू किया गया बिज़नेस आज इतना बड़ा हो गया ,रुबंस कम्पनी के साल 2019 का रेवेन्यू 15 करोड़ रुपये था। जो की अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है। 

    Chinu kala wikipedia 

    Name Chinu kala
    Chinu kala blog rubans.in
    Chinu kala Instagram /chinu_kala
    Chinu kala husband name Amit kala
    Chinu kala brand name rubans
    Chinu kala contact number +91 9148028814 (only business)
    Chinu kala Facebook chinukalaofficial


    इस पोस्ट में हम सभी ने जाना एक जाने मने सफल बिजनेसमैन ,एक मॉडल और एक एंटरप्रेन्योर चीनू कला जी के बारे में। हमलोगो ने देखा की कैसे प्रोब्लेम्स और संघर्ष को मात देती हुई चीनू कला ने अपने आप को आज यहाँ तक पहुंचाया। इनकी स्टोरी से साफ पता चलता है की यदि आप अपनी मेहनत लगन और सच्ची जज्बा के साथ काम करेंगे तो सफल जरूर होंगे। और इनका मानना है की कोई भी काम छोटा नहीं होता है जो आपके लिए दो वक्त की रोटी जुटाता है। इसीलिए किसी भी काम को कॉन्टिनिअसली और सच्ची लगन से करनी चाहिए। इनकी स्टोरी आपको कैसी लगी कमेंट में जरूर बताये। 

    Post a Comment

    और नया पुराने