.

बाइक बीमा में आईडीवी क्या है || What is IDV in Bike Insurance in Hindi

what is idv in bike insurance

यदि आप भी अपनी बाइक के लिए इन्शुरन्स लेना चाहते है तो बाइक का इन्शुरन्स ऑनलाइन करने से पहले आपको idv के बारे में जान लेना चाहिए ताकि बाद में आपको पछताना न पड़े। किसी भी वाहन के इन्शुरन्स में idv सबसे महत्वपूर्ण है। क्यूंकि इन्शुरन्स का लगभग सारा खेल idv पर ही निर्भर करता है। इसलिए आपको idv के बारे में पूरी जानकारी जननी चाहिए। 
What is IDV in Bike Insurance in Hindi
यदि आप आई डी वी के बारे में जानना चाहते है तो आप एकदम सही स्थान पर है। क्यूंकि इस आर्टिकल में हम idv के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे। इसीलिए आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े। इस आर्टिकल में हम जानने वाले है की idv kya hai ,किसी वाहन की idv value कितना होती है। idv क्यों जरुरी है और idv को कौन कौन से कारक प्रभावित करते है ?  तो चलिए सबसे पहले जानते है की आई डी वी क्या होता है ?

    what is idv in bike Insurance in hindi

    IDV का full form Insured Declared Value होता है। और IDV का हिंदी अर्थ (idv meaning in hindi ) ,बीमित घोषित मूल्य होता  है। जब हम बाइक इन्शुरन्स ऑनलाइन करते है तो हमको idv देखने को मिलता है। जिसे हमे खुद से तय करना होता है की हम idv कितना रखना चाहते है। 

    idv किसी बीमा कंपनी द्वारा दिया जाने वाला वह कवरेज राशि है जो आपको मतलब की पॉलिसीधारक को उसकी बाइक या किसी भी वाहन के पूरी तरह से नुकसान होने पर दिया जाता है। 

    सीधा सीधा कहे तो idv एक कवरेज राशि है जो आपके बाइक के चोरी ,या किसी तरह पूरी तरह से नुकसान होने  पर आपको प्राप्त होता है। idv की राशि को आपके बाइक की स्थिति और उसके आयु के अनुसार तय किया जाता है। 

    बाइक बीमा में IDV क्यों महत्वपूर्ण है ?

    जैसा की आप जान चुके है की आई डी वी क्या है ?जिसमे हमने जाना की आई डी वी एक कवरेज राशि है जो हमे हमारी बाइक के चोरी होने पर मिलता है। 

    आई डी वी की जानकारी होना बहुत जरुरी है। इससे हमे बाइक या किसी भी वाहन के इन्शुरन्स खरीदने में आसानी होती है। आपको जानकार आश्चर्य होगा की आई डी वी की राशि जितना कम होगा आपको उतना ही कम बाइक बीमा खरीदने में पैसे लगते है। और हम सभी कम प्रीमियम देखकर बीना कुछ सोचे समझे जल्दी से इन्शुरन्स खरीद लेते है। 

    लेकिन हमे जब IDV के बारे में पता चलता है तो पछतावा होता है। इसीलिए इन्शुरन्स ऑनलाइन करने से पहले idv के बारे में जान ले। इसीलिए आप जब भी इन्शुरन्स ऑनलाइन करे तो अपने वाहन के बाजार भाव की निकटम राशि को चुने। और इससे आपके प्रीमियम में बहुत ही कम का अंतर देखने को मिलेगा। और आपके बाइक के चोरी होने पर आपको एक उचित कवरेज राशि भी मिलेगी। 


    बाइक बीमा में IDV वैल्यू कैसे निकालें ?

    आपके बाइक या किसी भी तरह के वाहन का idv value आपके द्वारा पे किये गए प्रीमियम राशि पर निर्भर नहीं करता है। मतलब की आपके बाइक के चोरी होने पर आपको कितना कवरेज राशि प्राप्ति होगी ये इस बात पर निर्भर नहीं करता है की आपने कितना महंगा या कितना अधिक रूपए में बाइक इन्शुरन्स ख़रीदा है। 

    बल्कि आपका bike idv value इस बात पर निर्भर करता है की इन्शुरन्स पॉलिसी को खरीदते समय आपके बाइक की बाजार कीमत कितनी थी। जो आपके बाइक का idv value समय के साथ बदलता रहता है। मतलब की आपकी बाइक जितनी पुरानी होती जाएगी उसका idv value उतना ही कम होता चला जाता है। 

    यदि आप अपने बाइक की आई डी वी वैल्यू निकालना चाहते है तो आप निचे दी गई सारणी के अनुसार निकाल सकते है :-


    bike or vhicle age Percentage decline in IDV value by age of bike IDV VALUE
    6 महीने से कम 5% नई बाइक की कीमत के 95 % के बराबर
    6 महीने से अधिक, लेकिन एक वर्ष से कम 15% नई बाइक की कीमत के 85 % के बराबर
    1 वर्ष से अधिक, लेकिन 2 वर्ष से कम 20% नई बाइक की कीमत के 80 % के बराबर
    2 वर्ष से अधिक, लेकिन 3 वर्ष से कम 30% नई बाइक की कीमत के 70 % के बराबर
    3 वर्ष से अधिक, लेकिन 4 वर्ष से कम 40% नई बाइक की कीमत के 60 % के बराबर
    4 वर्ष से अधिक, लेकिन 5 वर्ष से कम 50% नई बाइक की कीमत के 50% के बराबर

    Note:- यदि आपकी बाइक की आयु 5 वर्ष से अधिक है तो आपके बाइक की idv value आपके और बीमा कंपनी के बीच समझौते के अनुसार तय होगा। इसके लिए आप इन्शुरन्स कंपनी की टोलफ्री नंबर पर संपर्क कर सकते है। 

    बाइक बीमा में IDV को प्रभावित करने वाले कारक कौन कौन से है ?

    बाइक बीमा में आई डी वी वैल्यू को प्रभावित करने वाले निम्नलिखित कारक है :-
    • आपके बाइक की आयु 
    • आपके बाइक का मेक एंड मॉडल 
    • बाइक की पंजीकरण डेट 
    • आपका शहर 
    • आपके बाइक और अन्य वाहन के ईंधन का प्रकार 
    • आपके इन्शुरन्स पॉलिसी की समाप्ति तिथि 
    • आई डी वी और प्रीमियम वैल्यू के बिच अंतर 

    IDV और Primium value में क्या अंतर है ?

    बहुत सारे लोग idv value और प्रीमियम वैल्यू को एक ही मानते है। उन्हें लगता है की ये दोनों एक ही राशि के दो अलग नाम है। लेकिन ऐसा नहीं है। हालांकि दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए है लेकिन दोनों मतलब अलग अलग होता है। 

    idv value वह अधिकतम राशि है जो आपको आपके बाइक के चोरी हो जाने या पूरी तरह से नष्ट हो जाने पर बीमा कंपनी द्वारा आपको कवरेज के रूप में दिया जाता है। जबकि प्रीमियम वैल्यू वह न्यूनतम राशि है जो बीमाधारक मतलब की आप के द्वारा बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए बीमा कंपनी को दिया जाता है। 

    IDV Value और प्रीमियम राशि दोनों एक दूसरे के समानुपाती होते है। मतलब की यदि आपका प्रीमियम राशि कम तो आपको idv वैल्यू भी कम होगा। इसीलिए आप सस्ते के चक्कर में न पड़े ,बहुत सारे लोगो का मानना रहता है की आपकी प्रीमियम राशि जितना कम देना होता है उतना ही अच्छा होता है। लेकिन ऐसा नहीं है।

    इसे भी पढ़े :- Respite meaning in hindi


    कुछ बीमा कंपनियां आपके प्रीमियम राशि को कम कर देती है ताकि जब लोग उसकी तुलना किसी अन्य कंपनी से करेंगे तो उसकी बीमा प्रीमियम कम होने के चलते अधिक से अधिक लोग उस कंपनी की बीमा खरीदेंगे। लेकिन वह कंपनी प्रीमियम राशि के साथ आपके idv value को भी कम कर देते है जिससे की बाद में आपको भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है। इसीलिए आप जब भी बीमा पालिसी ख़रीदे तो उस कंपनी की idv value जरूर चेक कर लें। 

    और यदि ऑनलाइन करते समय आपको कोई परेशानी या किसी तरह का संदेह होता है तो आप उस इन्शुरन्स कंपनी के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर मदद ले सकते है। 

    बाइक बीमा में idv का क्या महत्त्व है ?

    बाइक इन्शुरन्स में insured declared value का बहुत अधिक महत्त्व है। क्यूंकि यह न सिर्फ आपके बाइक की वास्तविक मूल्य निर्धारित करता है बल्कि आप अपनी इन्शुरन्स के लिए कितना प्रीमियम राशि का भुगतान करेंगे यह भी निर्धारित करता है। 

    आप अपने बाइक के इन्सुरन्स पालिसी के लिए जो प्रीमियम पे करते है वह पॉलिसी के प्रकार ,मेक मॉडल ,बाइक की cc ,दावा हिस्ट्री ,के साथ साथ idv बीमित घोषित मूल्य पर भी निर्भर करता है। और इसके साथ आप यह सब तो जान ही चुके है की एक्सीडेंट और चोरी के समय इसका सबसे अधिक महत्व होता है। क्यूंकि idv की मदद से ही हमारी बाइक का लगभग पूरा नुकसान का कवरेज प्राप्त हो जाता है। 

    दोस्तों इस आर्टिकल में हम सभी ने बाइक इन्शुरन्स में idv value के बारे में जाना। जैसे की idv kya hota hai .idv क्यों जरुरी होता है ,idv value कैसे निकाला जाता है और idv value को प्रभावित करने वाले कारक कौन कौन से है। इत्यादि idv से संबंधित सारे प्रॉब्लम को जाना। यदि अभी भी आपके पास कोई प्रश्न या कन्फूशन है तो आप कमेंट बॉक्स में हमसे पूछ सकते है। आपको ये आर्टिकल कैसा लगा अपना फीडबैक जरूर दे। 

    हमारे अन्य आर्टिकल जिसे आपको जरूर पढ़ना चाहिए :-

    Post a Comment

    और नया पुराने